Main content

विशेषज्ञता

पिछले कई वर्षों में राष्ट्रीय तकनीकी शिक्षक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान, भोपाल ने विविध प्रकार के संगठनों के लिए तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षा प्रणाली तथा मानव संसाधन विकास में अनुभव एवं विशेषज्ञता प्राप्त कर ली है जिनमें मुख्त: निम्न सम्मिलित हैं -

  • तकनीकी शिक्षा प्रणाली।
  • उद्योग।
  • फील्ड एजेंसियां।
  • अन्तर्राष्ट्रीय एजेंसियां।

      संस्थान ने अपने ग्राहकों को अनेक प्रकार की सेवाएँ उपलब्ध कराने की क्षमता विकसित कर ली है जिसमें तकनीकी शिक्षा प्रणाली सुधारने हेतु माँग आधारित अल्पकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम, दीर्घकालिक कार्यक्रम, पाठ्‌यक्रम विकास, शिक्षा सामग्री विकास, अनुसंधान एवं विकास परियोजनाएँ संचालित करना सम्मिलित है।

संस्थान को मानव संसाधन विकास, पाठ्‌यक्रम विकास शिक्षा-प्रबंध कौशल, नीति निर्धारण, सतत्‌-शिक्षा, छात्र मूल्यांकन, बहु-माध्यमी (मल्टीमीडिया) एवं टेलीविजन कार्यक्रम विकास, सामुदायिक नेटवर्किंग, औद्योगिक संपर्क, शिक्षा सामग्री रूपांकन तथा शिक्षा अनुसंधान जैसे तकनीकी शिक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता प्राप्त है। यह संस्थान अपनी उच्च स्तर की सेवाओं और उत्पादों के लिए एक शीर्ष संस्था है। यह अपनी मानव संसाधन विकास सेवाओं और व्यावसायिक रूप से सुयोग्य श्रमशक्ति विकसित करने में अपने अभिनव परिवर्तनशील साधनों के लिए अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्य है। संस्थान का विभागों और केन्द्रों को एकीकृत करने का एक ठोस संगठनात्मक ढाँचा है।

 प्रदत्त सेवाओं का प्रतिबिम्ब

      संस्थान तकनीकी शिक्षा प्रणाली के संपूर्ण क्षेत्र के लिए एक बड़ी साधन संपन्न संस्था है, जिसमें पॉलीटेकनीक, इंजीनियरी महाविद्यालय, प्रबंधन संस्थाएँ, व्यावसायिक शिक्षा पद्धति तथा अन्य व्यावसायिक संस्थाएँ सम्मिलित हैं। यह उद्योगों, सरकारी एजेंसियों और फील्ड (कृषि) उद्योगों के लिए माँग आधारित प्रशिक्षण कार्यक्रमों का प्रबंधन भी करता है। अपनी अन्तःशक्ति को उच्चतम सीमा तक बढ़ाने के लिए विभागों और केन्द्रों को एकीकृत करते हुए संस्थान की एक ठोस पृष्ठभूमि वाली परिचालन-संरचना है। लगभग साठ राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षित तथा सुयोग्य संकाय सदस्यों वाला यह संस्थान विशेषज्ञता के निम्न प्रमुख क्षेत्रों में विविध कार्यक्रमों, अनुसंधानों और परियोजनाओं को संचालित करता है :

  • आधारभूत अध्यापन सुयोग्यता विकास
  • पाठ्‌यक्रम विकास
  • मूल्यांकन प्रणाली विकसित करना
  • शोध अध्ययन
  • प्रबंध कौशल विकास
  • प्रौद्योगिकी एवं सम्बद्ध क्षेत्रों में विषय-वस्तु अद्यतनीकरण
  • प्रयोगशाला नवाचार
  • उद्योग-संस्थान-अन्योन्य क्रिया
  • प्रशिक्षण आवश्यकता विश्लेषण
  • प्रशिक्षक प्रशिक्षण
  • प्रशिक्षण पैकेज विकास
  • कम्प्यूटर आधारित बहु-माध्यमी पैकेज
  • शैक्षिक सामग्री नमूना एवं विकास
  • संस्था भवन
  • भावी दृष्टिकोण
  • संपूर्ण गुणवत्ता
  • नीति दस्तावेज़ों एवं प्रस्तावों की रूपरेखा तैयार करना
  • रूपान्तर (टर्न-की) के आधार पर शैक्षिक परियोजनाओं की रूपरेखा तैयार करना, उनका कार्यान्वयन करना, प्रबोधन (मोनिटरिंग) करना तथा मूल्यांकन करना
  • सामुदायिक विकास
  • उद्यमिता विकास
  • संवाद कौशल विकास
  • सौम्य कौशल विकास